Mera Safar

view cart
Availability : Stock
  • 0 customer review

Mera Safar

Number of Pages : 156
Published In : 2016
Available In : Paperback
ISBN : 978-81-263-3065-2
Author: Ali Sardar Jafri

Overview

ज्ञानपीइ पुरस्कार से सम्मानित उर्दू के मशहूर शायर अली सरदार जाफरी की चुनिन्दा शायरी का संग्रह। अली सरदार जा$फरी की शायरी के बारे में सज्जाद ज़हीर का कहना है कि सरदार जा$फरी की बड़ी कविताओं में बड़ी-दीवारी चित्रकारी का आनन्द है। उनके शब्द स्पष्ट और शक्तिशाली हैं, उनकी लय ऊँची और जोश से भरी हुई है, निश्चित रूप से उनकी शैली उपदेशकों-जैसी है, इसलिए कि वे जनसमूह में सुनाने के लिए भी कही गयी है। और यह उनका गुण है, अवगुण नहीं। क्या मौलाना रूमी की मसनवी का, मीर अनीस के मरसियों का, इ$कबाल के शिकवे का, शेक्सपियर के नाटकों का अन्दाज़ उपदेशकों-जैसा नहीं है? ये सब रचनाएँ भी जनसमूह को सुनाने के लिए कही गयी थीं; ज़ाफरी की कविताएँ इसी विधा की हैं, इनमें सरलता, प्रवाह और सत्यता है और वे सुननेवालों पर सीधा प्रभाव डालती हैं और कामयाब हैं।

Price     Rs 120

ज्ञानपीइ पुरस्कार से सम्मानित उर्दू के मशहूर शायर अली सरदार जाफरी की चुनिन्दा शायरी का संग्रह। अली सरदार जा$फरी की शायरी के बारे में सज्जाद ज़हीर का कहना है कि सरदार जा$फरी की बड़ी कविताओं में बड़ी-दीवारी चित्रकारी का आनन्द है। उनके शब्द स्पष्ट और शक्तिशाली हैं, उनकी लय ऊँची और जोश से भरी हुई है, निश्चित रूप से उनकी शैली उपदेशकों-जैसी है, इसलिए कि वे जनसमूह में सुनाने के लिए भी कही गयी है। और यह उनका गुण है, अवगुण नहीं। क्या मौलाना रूमी की मसनवी का, मीर अनीस के मरसियों का, इ$कबाल के शिकवे का, शेक्सपियर के नाटकों का अन्दाज़ उपदेशकों-जैसा नहीं है? ये सब रचनाएँ भी जनसमूह को सुनाने के लिए कही गयी थीं; ज़ाफरी की कविताएँ इसी विधा की हैं, इनमें सरलता, प्रवाह और सत्यता है और वे सुननेवालों पर सीधा प्रभाव डालती हैं और कामयाब हैं।
Add a Review
Your Rating