Uff

view cart
Availability : Stock
  • 0 customer review

Uff

Number of Pages : 378
Published In : 2011
Available In : Hardbound
ISBN : 978-81-263-3024-9
Author: Pramod Kumar Tiwari

Overview

जब जीवनानुभव और रचनाशीलता का मेल होता है तब ‘उफ़्फ़’ जैसा उपन्यास जन्म लेता है। प्रमोद कुमार तिवारी ने प्रामाणिक अनुभव के आधार पर असम के जीवन में मचे घमासान को ‘उफ़्फ़’ में पूरे विस्तारप से विवेचित किया है। प्रशासन, परम्परा, जीवनशैली, राजनीति और राष्ट्रीय अखंडता आदि त्रिज्याओं के सहारे यह उपन्यास एक बड़ा रचनात्मक वृत्त बनाता है। इसकी परिधि पर हैं राष्ट्रीय चिन्ताएँ और केन्द्र में है‘भारतीयता’। प्रमोद कुमार तिवारी ने ‘इनसाइडर’ की तरह उफ़्फ़’ की रचना की है। यह उपन्यास प्रशासन में निहित विरूपताओं को सफलतापूर्वक उजागर करता है।

Price     Rs 380

जब जीवनानुभव और रचनाशीलता का मेल होता है तब ‘उफ़्फ़’ जैसा उपन्यास जन्म लेता है। प्रमोद कुमार तिवारी ने प्रामाणिक अनुभव के आधार पर असम के जीवन में मचे घमासान को ‘उफ़्फ़’ में पूरे विस्तारप से विवेचित किया है। प्रशासन, परम्परा, जीवनशैली, राजनीति और राष्ट्रीय अखंडता आदि त्रिज्याओं के सहारे यह उपन्यास एक बड़ा रचनात्मक वृत्त बनाता है। इसकी परिधि पर हैं राष्ट्रीय चिन्ताएँ और केन्द्र में है‘भारतीयता’। प्रमोद कुमार तिवारी ने ‘इनसाइडर’ की तरह उफ़्फ़’ की रचना की है। यह उपन्यास प्रशासन में निहित विरूपताओं को सफलतापूर्वक उजागर करता है।
Add a Review
Your Rating