Bimb Pratibimb

view cart
Availability : Stock
  • 0 customer review

Bimb Pratibimb

Number of Pages : 544
Published In : 2016
Available In : Hardbound
ISBN : 978-93-263-5100-3
Author: Chandrakant Khot

Overview

मराठी के वरिष्ठ उपन्यासकार और लेखक चंदकांत खोत द्वारा लिखित महापुरषों के जीवन पर आधारित अनेक उपन्यासों में से एक है. स्वामी विवेकानंद के जीवन पर आधारित आत्मकथा बृहद उपन्यास 'बिम्ब प्रतिबिम्ब'. विवेकान्द पर अधिकांश भारतीय भाषाओ में बहुत कुछ लिखा गया है, फिर भी उनके जीवन के कई ऐसे पहलु है जिनसे आम पाठक आज भी अनभिज्ञ है. बिम्ब प्रतिबिम्ब में ऐसे रोचक प्रसंग. जो न केवल पाठको को गुदगुदाते है. उन्हें आत्मविभोर भी करते है. लेखक ने इस उपन्यास के माध्यम से हमारी विविधतापूर्ण संस्कृति में भारतीयता की मूलभुत उचाईयों को बड़ी शिद्दत से स्वर दिया है मानवीय गुणों के प्रति समर्पण का भाव कथानक की धरा में आदि से अंत तक देखा जा सकता है स्वामी विवेकानन्द गुरु श्रीरामकृष्ण परमहंस, उनके गुरुबंधु स्वामीजी का देश-विदेश भ्रमण और देश की तत्कालीन परिस्थितियाँ सभी कुछ प्रस्तुत कृति में एक ही जगह समाहित करने का लेखक का प्रयास रहा है. रामकृष्ण और विवेकान्द दोनों स्वच्छ

Price     Rs 600

मराठी के वरिष्ठ उपन्यासकार और लेखक चंदकांत खोत द्वारा लिखित महापुरषों के जीवन पर आधारित अनेक उपन्यासों में से एक है. स्वामी विवेकानंद के जीवन पर आधारित आत्मकथा बृहद उपन्यास 'बिम्ब प्रतिबिम्ब'. विवेकान्द पर अधिकांश भारतीय भाषाओ में बहुत कुछ लिखा गया है, फिर भी उनके जीवन के कई ऐसे पहलु है जिनसे आम पाठक आज भी अनभिज्ञ है. बिम्ब प्रतिबिम्ब में ऐसे रोचक प्रसंग. जो न केवल पाठको को गुदगुदाते है. उन्हें आत्मविभोर भी करते है. लेखक ने इस उपन्यास के माध्यम से हमारी विविधतापूर्ण संस्कृति में भारतीयता की मूलभुत उचाईयों को बड़ी शिद्दत से स्वर दिया है मानवीय गुणों के प्रति समर्पण का भाव कथानक की धरा में आदि से अंत तक देखा जा सकता है स्वामी विवेकानन्द गुरु श्रीरामकृष्ण परमहंस, उनके गुरुबंधु स्वामीजी का देश-विदेश भ्रमण और देश की तत्कालीन परिस्थितियाँ सभी कुछ प्रस्तुत कृति में एक ही जगह समाहित करने का लेखक का प्रयास रहा है. रामकृष्ण और विवेकान्द दोनों स्वच्छ
Add a Review
Your Rating