Pratighat

view cart
Availability : Stock
  • 0 customer review

Pratighat

Number of Pages : 476
Published In : 2018
Available In : Paperback
ISBN : 8126312165
Author: Nagnath Inamdar

Overview

छत्रपति शिवाजी महाराज द्वारा लगाये गये स्वराज्य-वृक्ष को जिन मराठा घरानों ने पल्लवित-पुष्पित किया, उनमें एक होलकर घराना था। इस घराने के मूल पुरुष तुकोजीराव होलकर के वंशजों में मल्हारराव होलकर के एक अनौरस पुत्र थे—यशवन्तराव होकलर। मराठा इतिहास में वे एक चमत्कार हैं। बीस वर्ष की अवस्था में ही होलकर रियासत का स्वामित्व उन्हें सँभालना पड़ेगा, इसकी कल्पना तक उन्होंने नहीं की थी। मराठा इतिहास में उनका उदय आकस्मिक था। अज्ञेय समझी जानेवाली अँग्रेजी फौज को उन्होंने जो सबक सिखाया वह इतिहास की गाथा बन गया। हिन्दी पाठकों के समक्ष प्रस्तुत है नागनाथ इनामदार के सशक्त मराठी उपन्यास 'झुंज’ का रूपान्तर 'प्रतिघात’।

Price     Rs 260

छत्रपति शिवाजी महाराज द्वारा लगाये गये स्वराज्य-वृक्ष को जिन मराठा घरानों ने पल्लवित-पुष्पित किया, उनमें एक होलकर घराना था। इस घराने के मूल पुरुष तुकोजीराव होलकर के वंशजों में मल्हारराव होलकर के एक अनौरस पुत्र थे—यशवन्तराव होकलर। मराठा इतिहास में वे एक चमत्कार हैं। बीस वर्ष की अवस्था में ही होलकर रियासत का स्वामित्व उन्हें सँभालना पड़ेगा, इसकी कल्पना तक उन्होंने नहीं की थी। मराठा इतिहास में उनका उदय आकस्मिक था। अज्ञेय समझी जानेवाली अँग्रेजी फौज को उन्होंने जो सबक सिखाया वह इतिहास की गाथा बन गया। हिन्दी पाठकों के समक्ष प्रस्तुत है नागनाथ इनामदार के सशक्त मराठी उपन्यास 'झुंज’ का रूपान्तर 'प्रतिघात’।
Add a Review
Your Rating